दिल्‍ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश का तबादला, भेजे गए दूरसंचार विभाग

0
101

दिल्ली के चीफ सेक्रेटेरी अंशु प्रकाश का ट्रांसफर अब केंद्र सरकार में एडिशनल सेक्रेटेरी टेली कम्यूनिकेशन के पद पर कर दिया गया है। हालांकिउनके बाद दिल्‍ली सीएस की कुर्सी कौन संभालेगाइसका ऐलान अभी नहीं किया गया है। बता दें कि अंशु प्रकाश अपने कार्यकाल के दौरान काफी चर्चा में रहे। आप विधायकों द्वारा उनसे मारपीट किए जाने का मामला विवादों में रहा। जिसकी जांच अब भी जारी है। दरअसल मुख्य सचिव अंशु प्रकाश इसी साल 19 फरवरी की देर रात एक बैठक में शामिल होने के लिए मुख्यमंत्री आवास पर गए थे। आरोप है कि केजरीवाल के सामने AAP विधायकों ने उनके साथ मारपीट की थी। केजरीवाल के घर पर हुए हंगामे के दौरान वहां मौजूद रहे पूर्व विधायक संजीव झा ने मुख्य सचिव के आरोपों को गलत बताया था। उनका कहना था कि महज 3 मिनट में उनके साथ मारपीट कैसे हो सकती है। उन्होंने कहा कि राशन के मसले पर चर्चा शुरू हुई थीलेकिन बातचीत सुनने की बजाए मुख्य सचिव ने कहा कि वह उनके प्रति जवाबदेह नहीं हैं। मुख्य सचिव से मारपीट के मामले में विधायक प्रकाश जारवाल और अमानतुल्लाह खान समेत विधायक नितिन त्यागीऋतुराज गोविंदसंजीव झाअजय दत्तराजेश ऋषिराजेश गुप्तामदन लालप्रवीण कुमार और दिनेश मोहनिया भी आरोपी हैं। मुख्य सचिव अंशु प्रकाश से मारपीट के मामले में दो विधायकों प्रकाश जारवाल और अमानतुल्लाह खान को दिल्ली पुलिस की तरफ से फरवरी में गिरफ्तार किया गया था हालांकि बाद में हाईकोर्ट ने दोनों को जमानत दे दी थी। मामले में पिछली 25 अक्टूबर को दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने बड़ी राहत देते हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवालउपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और आरोपी 11 आप विधायकों को गुरुवार को जमानत दी है। दिल्ली पुलिस ने इस मामले में पहले ही अपनी चार्जशीट कोर्ट में दाखिल कर दी है। कोर्ट में  मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री व्यक्तिगत रूप से पेश हुए। उन्हें 50 हजार रुपये के मुचलके पर जमानत दी गई है। इस मामले की अगली सुनवाई 7 दिसंबर को होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here