जानें कब है धनतेरस का शुभ मुहूर्त और क्या खरीदें इस अवसर पर

0
14

धनतेरस के दिन राशि के अनुसार खरीददारी करें तो आपको विशेष लाभ होगा। आज शाम को खरीदारी के समय अपनी राशि का ध्यान रखें और नक्षत्र का भी ध्यान रखें। आज खरीदारी के लिए सिर्फ दो घंटे का समय बेहद ही शुभ व फलदायक है। खरीदारी का पर्व धनतेरस आस्था व श्रद्धा के साथ मनाया जाएगा। इस दिन चांदी व धातु के बर्तन खरीदना शुभ माना जाता है।इस बार खरीदारी का शुभ मुहूर्त सिर्फ एक घंटा 57 मिनट यानी करीब दो घंटा का है। धनतेरस पर इस बार सामान खरीदने का शुभ मुहूर्त सिर्फ 1 घंटे 57 मिनट के लिए होगा। यह शाम 6:20 से शुरू होकर 8:17 मिनट तक रहेगा। इस दिन इस दिन धन के देवता भगवान कुबेर और माता लक्ष्मी की पूजा की जाती है। सोमवार का दिन, तुला राशिगत सूर्य व कन्या राशिगत चंद्रमा इस पर्व को और शुभ बना रहे हैं। औदायिक स्थिति में लाभ स्थान का स्वामी लग्नेश से युति बनाकर लग्न में है और धन स्थान पर दो महत्वपूर्ण शुभ ग्रह बृहस्पति व बुध का होना आर्थिक विकास का मार्ग प्रशस्त करेंगे। धनतेरस के दिन राशि के अनुसार खरीददारी करें तो आपको विशेष लाभ होगा। धनतेरस के दिन वस्तु खरीदने से धन में तेरह गुना वृद्धि होती है। इस दिन सभी सुख-समृद्धि और अच्छे स्वास्थ्य की कामना करते हुए भगवान धन्वंतरि का पूजन करते हैं और घर के मुख्य द्वार पर दीप भी प्रज्जवलित करते हैं। धनतेरस के दिन जातक सोना, चांदी, पीतल, तांबा या स्टील आदि के पात्र या आभूषण की अपने सामर्थ्य के अनुसार वस्तुएं खरीदते हैं। मेष राशि के जातक के लिए धनतेरस के दिन पीतल खरीदना शुभ साबित होगा। मेष राशि वाले सोना, पूजन सामग्री, पीतल का सामान खरीदें। यदि मेष राशि के जातक इस शुभ दिन पीतल की वस्तु खरीदते हैं तो उनके धन में अपार वृद्धि संभावना बढ़ती है। वृषभ राशि के जातक के लिए चांदी की धातु अत्यंत शुभ है। इन जातकों के लिए धन में वृद्धि हेतु अपनी सामर्थ्य के अनुसार कोई चांदी की वस्तु खरीदनी चाहिए। वृषभ राशि के लोग पीतल, इलेक्ट्रॉनिक सामान व कपड़े खरीदें तो उत्तम होगा। मिथुन राशि के जातक धनतेरस के दिन तांबे की कोई वस्तु घर अवश्य लाएं। मिथुन राशि वाले केसर, वाहन, स्वर्ण, भूमि व चांदी का कोई भी पात्र खरीदें। इससे भगवान धन्वंतरि की अपार कृपा बरसेगी। कर्क राशि के जातक धनतेरस के दिन कोई स्टील की वस्तु या बर्तन अवश्य खरीदें। कर्क राशि वालों को मिष्ठान, फल व पीतल के बर्तन लेने चाहिए। इससे महालक्ष्मी की अनुकम्पा प्राप्त होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here