महिलाओं को सेना में स्थायी कमीशन पर हो रहा विचार-सेना प्रमुख।

0
14

थल सेना प्रमुख बिपिन रावत ने कहा कि सेना में महिलाओं की भागीदारी और बढ़ाने के लिए उन्हें स्थायी कमीशन दिए जाने पर विचार चल रहा है। फिलहाल हमारे पास महिलाओं के लिए फ्रंटलाइन रैंक है, इसमें लेडी डॉक्टर्स हैं। रावत उदयपुर के एक ग‌र्ल्स स्कूल के वार्षिकोत्सव कार्यक्रम में भाग लेने यहां आए थे। कार्यक्रम के दौरान रावत ने कहा कि सेना में महिलाओं के लिए एक विशेष कैडर का निर्माण कर उन्हें स्थायी कमीशन देने की योजना को अंतिम रूप दिया जा रहा है। महिलाओं को साइबर एवं सूचना प्रौद्योगिकी, सैन्य पुलिस कोर और सेवा चयन बोर्ड के विभिन्न पदों पर स्थायी कमीशन देने पर विचार किया जा रहा है। लड़ाई के दौरान भूमिका निभाने वाली सेवाओं में महिलाओं को फिलहाल स्थायी कमीशन से बाहर रखा गया है। अभी तक महिलाओं को शॉर्ट सर्विस कमीशन के रूप में सेना में नियुक्ति मिलती है, जिसमें वह अधिकतम चौदह साल तक की सेवाएं देती हैं, जबकि जिन सेवाओं में महिलाओं को स्थायी कमीशन मिलेगा, उनमें अब सेवानिवृत्ति उम्र तक वह कार्य कर सकेंगी। जहां तक लड़ाकू भूमिका में महिलाओं के प्रवेश की बात है, यह उन्हीं पर निर्भर है कि वह विशेष अतिरिक्त सुविधाओं के बगैर अग्रिम पंक्ति की लड़ाकू भूमिका में जाने को तैयार होती हैं या नहीं। रावत ने स्कूली छात्राओं को समझाते हुए कहा कि विफलता स्वीकार करते हुए जो खामियों पर विचार करके आगे बढ़ता है, वह ऊंचाइयां छूता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here