पीएम मोदी वाराणसी में करेंगे देश के पहले इनलैंड वॉटरवे टर्मिनल की शुरुआत।

0
53

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में नेशनल वॉटरवे-1 के टर्मिनल की शुरुआत करेंगे। यह देश का पहला इनलैंड वॉटरवे (नदी मार्ग) है। 1620 किलोमीटर लंबे वॉटरवे से गंगा के जरिए उत्तरप्रदेश के वाराणसी से पश्चिम बंगाल के हल्दिया के बीच माल ढुलाई आसान होगी। इसे जलमार्ग विकास परियोजना के तहत तैयार किया गया। इसके लिए वर्ल्ड बैंक से भी मदद मिली है। मोदी अक्टूबर के आखिरी हफ्ते में पेप्सिको के माल से भरे 16 कंटेनर के साथ कोलकाता से वाराणसी रवाना हुए मालवाहक जहाज एमवी आरएन टैगोर की अगवानी करेंगे। आजादी के बाद देश में इनलैंड वॉटरवे पर किसी कंटेनर पोत की यह पहली यात्रा है। वापसी में यह जहाज इफको के उर्वरक लेकर जाएगा। नेशनल वॉटरवे-1 चार राज्यों उत्तरप्रदेश, बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल से गुजरेगा। इससे कोलकता, पटना, हावड़ा, इलाहाबाद, वाराणसी जैसे शहर जलमार्ग से जुड़ेंगे। वॉटरवे-1 पर चार मल्टी मॉडल टर्मिनल- वाराणसी, साहिबगंज, गाजीपुर और हल्दिया बनाए गए हैं। जल मार्ग पर 1500 से 2000 मीट्रिक टन क्षमता वाले जहाजों को चलाने के लिए कैपिटल ड्रेजिंग के जरिए 45 मीटर चौड़ा गंगा चैनल तैयार किया गया है। पहला वॉटरवे तैयार करने का जिम्मा इनलैंड वॉटरवेज अथॉरिटी ऑफ इंडिया (आईडब्ल्यूएआई) को सौंपा गया। जलमार्ग परिजयोना के तहत गंगा में जहाजों से माल ढुलाई शुरू होगी। कार्गो का परिवहन सुगम हो जाएगा। वॉटरवे शुरू होने से देश की जीडीपी में बढ़ोतरी होगी। अार्थिक क्षेत्र में नए अवसर पैदा होंगे। नरेंद्र मोदी वाराणसी में 34 किलोमीटर लंबी दो राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं की भी शुरुआत करेंगे। इन्हें तैयार करने में करीब 1600 करोड़ की लागत आई है। इनमें पहला वाराणसी रिंग रोड फेज-1 और दूसरा बाबतपुर-वाराणसी रोड शामिल है। यह सड़क वाराणसी को बाबतपुर एयरपोर्ट से जोड़ेगी। गंगा और काशी को स्वच्छ बनाने के लिए प्रधानमंत्री मोदी 140 एमएलडी क्षमता के सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट (एसटीपी) की शुरुआत करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here