चुनाव-क्रिकेट की वजह से देश के विज्ञापन खर्च में अगले साल 15% बढ़ोतरी की है उम्मीद

0
25

अगले साल विज्ञापनों पर होने वाला खर्च 15% बढ़कर 72,169 करोड़ रुपए पहुंचने की उम्मीद है। आम चुनावों, क्रिकेट वर्ल्ड कप और आईपीएल की वजह से इसमें बढ़ोतरी होगी। जेनिथ ग्रुप ने ग्लोबल एडवर्टाइजिंग एक्सपेंडिचर रिपोर्ट में यह अनुमान जताया है।रिपोर्ट के मुताबिक इस साल के आखिर तक देश में विज्ञापन खर्च 62,699 करोड़ रुपए पहुंचने का अनुमान है। साल 2021 तक भारत दुनिया का 8वां बड़ा एडवर्टाईजिंग मार्केट बन सकता है। अभी यह टॉप-10 में शामिल नहीं है। इसका 11वां नंबर है। पहले नंबर पर अमेरिका और दूसरे पर चीन है।जेनिथ ग्रुप के सीईओ तन्मय मोहंती का कहना है कि देश के कई हिस्सों में डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन हो रहा है। इससे बैंकिंग, फाइनेंशियल सर्विसेज, हेल्थकेयर, एंटरटेनमेंट-स्पोर्ट्स और ट्रैवल-लाइफस्टाइल जैसे सेक्टर में ग्रोथ बढ़ेगी।रिपोर्ट में कहा गया है कि देश की आबादी का बड़ा हिस्सा 30 साल से कम उम्र वाला है। ऐसे में कंजम्प्शन ग्रोथ बढ़ने की उम्मीद है। इस वजह से भी विज्ञापनों पर खर्च बढ़ने की उम्मीद है।जेनिथ की रिपोर्ट के मुताबिक इस साल रुपए और तेल की कीमतों में अस्थिरता की वजह से कंपनियों की आय पर असर पड़ा है। लेकिन, कंज्यूमर कॉन्फिडेंस में गिरावट नहीं आई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here