क्या राजस्थान-छतीसगढ़ में NOTA की वजह से जीत पाया कांग्रेस ? 18 सीटों पर जीत-हार का कारण बना NOTA

0
59

राजस्थान और छत्तीसगढ़ में 18 सीटें ऐसी हैं, जहां जीत-हार के अंतर से ज्यादा नोटा पर वोट पड़े। इनमें राजस्थान में 11 और छत्तीसगढ़ की 8 सीटें शामिल हैं। छत्तीसगढ़ की दंतेवाड़ा और राजस्थान की बेंगू सीट पर सबसे ज्यादा नोटा को वोट मिले। मध्यप्रदेश में 11 सीटों पर नोटा की वजह से कांग्रेस को फायदा हुआ।

राजस्थान:  बेंगू सीट पर  सबसे ज्यादा नोटा वोट पड़े

सीट जीते जीत का अंतर नोटा को वोट मिले
आसींद जब्बरसिंह  151 2943
चौमूं   रामलाल 1288 1859
मालवीयनगर कालीचरण  1704  2371
पोकरण सालेह मोहम्मद 872   1121
खेतड़ी  जितेंद्र सिंह 957 1377
मारवाड़ जंक्शन खुशवीर सिंह     251 2719
मकराना रूपाराम 1188 1550
दांतारामगढ़  वीरेंद्र सिंह  920 1180
फतेहपुर  हाकम खान  860 1165
बेगूं  राजेंद्र विधूड़ी 1661 3165
पीलीबंगा धर्मेंद्र 278 2441
चूरू राजेंद्र राठौड़ 1850 1816

 

राजस्थान में पिछली बार 5 लाख 89 हजार 923 मतदाताओं ने नोटा का बटन दबाया था। इस बार 4 लाख 67 हजार 785 ने इसका उपयोग किया। यह आंकड़ा पिछली बार से 1 लाख 22 हजार 147 कम है।

छत्तीसगढ़ : दंतेवाड़ा सीट पर नोटा को मिले 9929 वोट

सीट        जीत का अंतर  नोटा
कोटा    3026 3942
अकलतरा 1854    2242
बलौदाबाजार 2129 3167
खैरागढ़   870  3068
कोंडागांव 1796 5146
नारायणपुर 2647  6858
दंतेवाड़ा     2172 9929
धमतरी  464   551

 

मध्यप्रदेश: इन 11 सीटों पर कांग्रेस को हुआ फायदा

सीट  दल वोट नोटा 
ब्यावरा कांग्रेस 826 1481
दमोह कांग्रेस 798 1299
ग्वालियर दक्षिण कांग्रेस 121 1550
जबलपुर उत्तर कांग्रेस 578 1209
जोबट कांग्रेस 2056 5139 
मंधाता कांग्रेस 1236 1575
नेपानगर कांग्रेस 1264 2551
राजपुर कांग्रेस 932 3358
सुवासरा कांग्रेस 350 2976

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here