इतिहास में पहली बार व्हाइट हाउस के खिलाफ मुक़दमा दर्ज,

0
78

अमेरिका में ट्रंप प्रशासन और मीडिया के बीच विवाद दिनोंदिन गहराता जा रहा है। अब अमेरिकी समाचार चैनल सीएनएन ने अपने पत्रकार जिम अकोस्टा पर पाबंदी लगाने के खिलाफ अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और व्हाइट हाउस के शीर्ष अधिकारियों के खिलाफ केस दायर किया है। यह केस वॉशिंगटन स्थित US डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में दाखिल किया गया है। CNN ने ट्रंप और उनके सहयोगियों के खिलाफ केस दाखिल कर अपने चीफ व्हाइट हाउस संवाददाता जिम अकोस्टा पर लगी पाबंदी को फौरन हटाने की मांग की है। बता दें कि पिछले सप्ताह वाउट हाउस ने डोनाल्ड ट्रंप से बहस के बाद पत्रकार अकोस्टा का प्रेस पास निलंबित कर दिया था। मंगलवार को सीएनएन ने डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन के खिलाफ दायर केस में आरोप लगाया कि व्हाइट हाउस ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से बहस के बाद रिपोर्टर जिम अकोस्टा के प्रेस दस्तावेज (press pass) निलंबित कर संविधान के तहत पत्रकार को मिले अधिकारों का हनन किया है। CNN ने केस की घोषणा करते हुए एक बयान में कहा, ‘इन दस्तावेजों को गलत तरीके से रद्द करना प्रेस की स्वतंत्रता के सीएनएन और अकोस्टा के प्रथम संशोधन अधिकार और नियत प्रक्रिया के पांचवें संशोधन अधिकार का उल्लंघन है।‘ CNN ने बयान में कहा गया, ‘हमने अदालत से व्हाइट हाउस के इस आदेश पर तत्काल रोक लगाने और जिम अकोस्टा का प्रेस पास लौटाने की अपील की है। हम इस प्रक्रिया के तहत स्थायी राहत मांगेंगे। अगर चुनौती नहीं दी जातीतो वाइट हाउस की कार्रवाई से निर्वाचित अधिकारियों की कवरेज करने वाले किसी पत्रकार के लिए घातक प्रभाव होते हैं।‘ वाइट हाउस कॉरेस्पोंडेंट एसोसिएशन ने सीएनएन के केस का स्वागत किया और कहा कि व्हाइट हाउस परिसर तक पहुंच को रोकना घटनाओं पर अनुचित प्रतिक्रिया के बराबर है। एसोसिएशन ने कहा, ‘हम ट्रंप प्रशासन से फैसला पलटने और सीएनएन के संवाददाता की पूर्ण बहाली की लगातार अपील करते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here